सोमवार, 5 सितंबर 2016

बौद्धिक प्रतियोगिता एवं युवा प्रेरणा शिविर

स्वामी विवेकानन्द के 11 सितम्बर 1893 के “विश्व विजयी भाषण” के द्वारा विश्वको दिया गया “बन्धुत्व” का संदेश पूरे विश्वमें “विश्व बन्धुत्व दिवस” के रूप में मनाया जा रहा है।विवेकानन्द केन्द्र भी हर साल इस समारोह को मनाता है। इस अवसर को ध्यान में लेते हुए विवेकानन्द केन्द्र, कन्याकुमारी - शाखा शिमला द्वारा स्वामी विवेकानन्द बौद्धिक प्रतियोगिता का अायोजन किया गया। जीसमें हिमाचल प्रदेश  विश्वविद्यालय के एवं राजीव गांधी महाविद्यालय के छात्रों एवं छात्राएँ प्रतिभागी बने।

प्रतियोगिता दो चरणो में अायोजित की गई। ईसके प्रथम चरण, दिनांक 3.09.2016, दिन शनिवार को स्वामी विवेकानन्द के जीवन पर अाधारित पुस्तक 'तेजस्वी जीवन' पर लिखित परीक्षा राजीव गांधी महाविद्यालय (कोटसेरा महाविद्यालय) में करायी गई। 

दुसरेे चरण के अन्तर्गत युवा  प्रेरणा शिविर का अायोजन दिनांक 4.09.2016, दिन रविवार को नाभा स्थित विवेकानन्द केन्द्र में किया गया। तीन धंटे के शिविर में प्रथम सत्र में परिचय तथा ज्ञानवर्धक एवं स्मृति विस्तारक खेल हुए। शिविरार्थी को तीन गणों (समूह) में विभाजित करते हुए, 'what is India?' (हम भारत को क्या समझते है?), ईस विषय पर चिंतन-मंथन हुअा। चाय के बाद के सत्र में इसी विषय को लेते हुए प्रत्येक गण के द्वारा सारगर्भित प्रस्तुतिकरण किया गया। इसके उपरांत स्वामी विवेकानन्द के जीवन के अादर्शों के माध्यम से राष्ट्रिय युवा दिवस की प्रासंगिकता को चलचित्र (Movie) के माध्यम से बाताया गया। प्रतियोगिता का सफल अयोजन राजीव गांधी महाविद्यालय के प्रधानाचार्य श्री राजा राम चौहान जी एवं दर्शन शास्त्र के प्राध्यापक श्री पंकज जी अौर विवेकानन्द केन्द्र के कार्यकर्ता के सहयोग से हुअा। 

प्रितयोगिता का परिणाम एवं पुरस्कार वितरण - विश्व बन्धुत्व दिवस के उपलक्ष्य में हो रहे कार्यक्रम 10-सितम्बर 2016 शनिवार मध्यान्ह के बाद  दोपहर 3.30 – 5.00  तक गेयटी थियेटर, शिमला में नागालैन्ड एवं मणिपूर के पूर्व महामहिम राज्यपालजी की उपस्थीति में होगा।

ईसमें अाप सब सादर अामंत्रित है।: विश्व बंधुत्व दिवस @शिमला

कोई टिप्पणी नहीं:

टिप्पणी पोस्ट करें

Thanking you for writing the comment.